मासिक धर्म के दौरान क्या सावधानियां बरतें

periods precaution

महिला की जीवन वैसे कई सारी समस्याएं होती है इनमें से एक समस्या है पीरियड का आना | यानी कि मासिक धर्म आने के कारण महिलाओं को कोई भी काम खुलकर नहीं कर सकती क्योंकि इस समय उनके प्राइवेट पार्ट से खून बाहर निकलता है और महिला को इस समय अपने शरीर में बहुत थकान और दर्द महसूस होता है

पीरियड के दौरान हम लोगों को कई सारी समस्या होती है जैसे कि मासिक धर्म खुलकर नहीं आता या फिर पीरियड को आने में देरी हो जाती है | कई बार अपने स्वास्थ्य के तरफ ध्यान न देने की वजह से महिलाओं को पीरियड आने में देरी होती है या फिर उनका मासिक धर्म अनियमित हो जाता है | महिला को प्रेगनेंट होने के लिए उसका मासिक धर्म बहुत ही जरूरी होता है |

पीरियड में क्या सावधानी बरतें ?

वैसे देखा जाए तो मासिक धर्म के दौरान अगर कुछ सावधानियां बरती जाए तो इस समस्या से महिलाओं को छुटकारा मिल सकता है | अब हम जानते हैं कि मासिक धर्म के दौरान क्या ख्याल रखना जरूरी होता है |

खानपान की तरफ ध्यान देना :

खानपान की तरफ ध्यान देना
खानपान की तरफ ध्यान देना

पीरियड नियमित तरीके से आने के लिए महिला को अपने खानपान की तरफ ध्यान देना बहुत जरूरी है, मासिक धर्म के दौरान तला हुआ खाना नहीं खाना चाहिए | आप को मासिक धर्म के दौरान मटर और चीज जैसी चीजों से दूर रहना है | ऐसा करने से आपका मन शांत रहता है और आपका शरीर मैं गैस की समस्या नहीं होती |

खाना खाते समय आपको तीखा ऑइली खाना खाने से बचना है | हमेशा आपके डाइट की तरफ ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है | अगर आप अपने खान-पान की तरफ ध्यान रखती हो तो आपका मासिक धर्म नियमित तरीके से आता है |

मेडिटेशन करना जरूरी है :

मेडिटेशन करना जरूरी है
मेडिटेशन करना जरूरी है

कई लोगों के मन में यह सवाल होता है कि मेडिटेशन करने से पीरियड्स के दौरान क्या फायदा होता है ? वैसे तो हम आपको बता देगी जब आपका मन शांत होता है तब आप किसी भी काम को बड़ी आसानी से कर सकते हो | मासिक धर्म के समय यदि आपको एक जगह पर शांत करते हो तो आपका मासिक धर्म का दर्द कम होता है | आपको किसी भी प्रकार का तलाव महसूस हो रहा है तो आप मेडिटेशन की सहायता से उच्च तनाव को दूर कर सकते | तनाव आने की वजह से कई बार महिलाओं के मासिक धर्म में अनियमितता होने लगती है | इसलिए जितना हो सके आप अपना तनाव से बाहर रहने का प्रयास करें |

पानी का अधिक सेवन करें :

पानी का अधिक सेवन करें
पानी का अधिक सेवन करें

मासिक धर्म के दौरान शरीर हाइड्रेटेड अवस्था में होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि हाइड्रेटेड होने की वजह से आपके शरीर में गैस की समस्या नहीं होती है और मासिक धर्म के दौरान पाद आने की वजह से भी हमें खून बाहर निकलने का खतरा रहता है | हो सके तो आप मासिक धर्म के दौरान नींबू पानी का भी सेवन कर सकती हो | जितना हो सके उतना हाइड्रेटेड होने की जरूरत हमारे शरीर को होती है |

हाइजीन रहना है जरूरी :

हाइजीन
हाइजीन

मासिक धर्म के दौरान हाइजीन रहना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि इस समय महिला को इंफेक्शन होने का खतरा अधिक होता है | महिला को दिन में तीन बार अपना सेनेटरी पैड चेंज करना बहुत जरूरी होता है |

कभी भी महिला को सेनेटरी नैपकिन पैड का इस्तेमाल 7 घंटे से अधिक नहीं करना है | अगर आप 7 घंटे से अधिक सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल करना चाहते हो तो आप सेनेटरी पैड के अंदर टैंपोन का इस्तेमाल कर सकती हो |

सेनेटरी पैड चेंज करते समय महिला को अपने को एंटी फंगल लिक्विड से साफ करना चाहिए, इसके लिए आप डेटॉल का इस्तेमाल भी कर सकती हो | कभी भी सेनेटरी पैड चेंज करने के बाद अपने हाथों को अच्छे से साफ करना है |

पीरियड के दिनों में नहाना बहुत जरूरी होता है, नहाते समय आपको अपने यौन अंगों को अच्छे से साफ करना बहुत जरूरी है |

आराम भी जरूरी:

आराम भी जरूरी
आराम भी जरूरी

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अधिक परिश्रम नहीं करना चाहिए , अभी ब्लड लीक होने की समस्या हो सकती है | पीरियड के दौरान जितना हो सके उतना आराम करना आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद है | आराम करने से मेंस्ट्रूअल क्राइम्स कम होती है |

शारीरिक संबंध :

शारीरिक संबंध
शारीरिक संबंध

ज्यादातर शादीशुदा कपल लोग पीरियड्स के दौरान भी सेक्स करने का सोचते है| लेकिन हम आपको याद करा देना चाहते हैं कि कभी भी आपको मासिक धर्म के दौरान शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए |

कई लोगों ऐसा भी लगता है कि मासिक धर्म के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से मासिक धर्म खुलकर आता है, लेकिन यह बिल्कुल गलत सोच है | जब भी आप मासिक धर्म के दौरान यौन संबंध बनाने जाते हो उस समय में इंफेक्शन का खतरा अधिक होता है | इंफेक्शन होने की वजह से आने वाले समय में आपकी योनि पर सूजन या खुजली भी हो सकती है |

अगर आप फिर भी मासिक धर्म के दौरान यौन संबंध बनाना चाहते हो तो आपको पहले 2 दिनों में गलती से भी संभोग नहीं करना है | पीरियड के शुरूआती 2 दिनों में महिला की ओवरी से अंडे खून के माध्यम से बाहर निकलते हैं | पीरियड में सेक्स करने का सोच रहे हो तो आप बाथरूम में शावर सेक्स कर सकते हो |

वैक्स ना करें :

वैक्स ना करें
वैक्स ना करें

अगर आपको मासिक धर्म के कुछ दिनों बाद किसी फंक्शन में जाना है और आपको वैक्स करने का मन हो रहा है तो आपको इस बात का ख्याल रखना है कि कभी भी मासिक धर्म के दौरान वैक्सिंग नहीं करना है | मासिक धर्म के दौरान शरीर पर वैक्सिंग करने से आपके शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर असंतुलित होने की वजह से आपका मासिक धर्म खुल कर नहीं आएगा |

सफेद पैंट का इस्तेमाल ना करें :

सफेद पैंट का इस्तेमाल
सफेद पैंट का इस्तेमाल

मासिक धर्म के दौरान अगर आप सफेद रंग की पैंट का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको सफेद रंग का कपड़े का इस्तेमाल नहीं करना है | सफेद रंग की पैंट पहनने की वजह से पैंट के ऊपर हिस्से पर खून का दाग लगता है और यह बाहर की ओर देख सकता है इसलिए आपको कभी भी मासिक धर्म के दौरान सफेद रंग का कपड़े का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए |

यदि आप ऊपर दिए हुए कुछ बातों का खयाल रखती हो तो आपका मासिक धर्म का समय हैप्पी हैप्पी बीत जाएगा | यदि आपको किसी भी प्रकार का सवाल अपने मन में पैदा हो रहा है, तो आप नीचे कमेंट मैं लिख सकती हो |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here